in

अहमदाबाद में 57 घंटे का कर्फ्यू:

       कोरोना की दूसरी लहर ने गुजरात को फिर से अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है। खासतौर पर अहमदाबाद की हालत ज्यादा खराब है। इसी के चलते यहां शुक्रवार रात 9 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया है। कर्फ्यू के पहले दिन पूरे शहर में सन्नाटा पसरा हुआ है। मंदिरों में भी ताले लग गए हैं। सड़कों पर नाममात्र की ही आवाजाही है।वहीं, संवेदनशील इलाकों में पुलिस की पेट्रोलिंग जारी है। कर्फ्यू के नियमों के उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्ती बरतने के आदेश हैं। शहर के एसजी हाईवे, आश्रम रोड, लाल दरवाजा, कालूपुर, बापूनगर, नरोडा, सरखेज, रिंग रोड, नेशनल हाईवे से कनेक्टेड रोड, शाहपुर, असारवा, साबरमती, चांदखेड़ा इलाकों में जबर्दस्त पुलिस बंदोबस्त लगा दिया गया, जिससे बिना चेकिंग के शहर में कोई भी एंट्री न कर पाए।
       कर्फ्यू की गाइडलाइन के अनुसार, शहर में भारी वाहनों, बस-ट्रक की एंट्री पर बैन है। बाहर से आने वाली बसों को बाइपास पर ही रोका जा रहा है। यात्रियों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए बसों की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा दूसरे शहरों से आने वाले लोगों के निजी वाहनों पर रोक नहीं है। हालांकि, इन्हें गाइडलाइन के नियमों का पालन करना होगा। कल शाम को ही गृह विभाग ने नोटिफिकेशन जारी कर कर्फ्यू के दौरान मिलने वालू छूट का उल्लेख कर दिया था।
      जीवन की जरूरी चीजें जैसे कि दूध, मेडिकल, म्युनिसिपल सर्विस, पेट्रोल और गैस स्टेशन, फार्मा कंपनियां, इलेक्ट्रिक और पानी सप्लाई करने वाले, डॉक्टर्स व मीडिया पर कर्फ्यू का पाबंदियां लागू नहीं होंगी। हालांकि, इन्हें पहचान पत्र दिखाना अनिवार्य होगा।रेलवे व अहमदाबाद से यात्रा करने वाले मुसाफिरों को भी कर्फ्यू से चिंता करने की जरूरत नहीं है। टिकट होने पर वे यात्रा कर सकते हैं। रेलवे स्टेशन पर मुसाफिरों के लिए एसटी बसों की व्यवस्था की गई है।

Hits: 10

What do you think?

Written by Mahendra Patil

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

अहमदाबाद में शनिवार और रविवार को कर्फ्यू :लोगोमे लॉकडाउन की देहसत

शक में पार्टनर ने की गर्भवती लड़की की हत्या