in ,

US इलेक्शन

      अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए काउंटिंग जारी है। न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, अब तक की गिनती में बाइडेन को 225, जबकि ट्रम्प को 213 इलेक्टर्स वोट मिल चुके हैं। खास बात है कि फ्लोरिडा में ट्रम्प जीत गए हैं। कहा जाता है कि इस स्विंग स्टेट में जो जीतता है वही व्हाइट हाउस पहुंचता है। 100 साल का इतिहास यही कहता है। आयोवा में बाइडेन आगे हैं।इस बीच बिडेन ने लोगों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि जहां अभी हम खड़े हैं, उससे काफी खुश हूं विस्कॉन्सिन और मिशिगन से मिल रही खबरें अच्छा फील करा रही हैं। जब तक हर बैलट की गिनती नहीं हो जाती, तब तक चुनाव खत्म नहीं होगा।वहीं ट्रम्प ने ट्वीट किया, ‘हम ऊंचाई पर जा रहे हैं, लेकिन वे (डेमोक्रेट्स) जनमत पर डाका डालने की कोशिश कर रहे हैं। हम ऐसा किसी हालत में नहीं होने देंगे। एक बार जब मतदान खत्म हो गया तो कोई वोट नहीं डाल सकता।’
    ट्रम्प ने यह भी कहा कि वे भी लोगों को संबोधित करेंगे। सीनेट में अब तक डेमोक्रेट्स को 45 जबकि रिपब्लिकन्स को 44 सीटें मिली हैं। हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स में डेमोक्रेट्स को 118 जबकि रिपबल्किन्स 140 सीटें मिली हैं। 72 साल बाद एरिजोना डेमोक्रेट्स का CNN के मुताबिक, इस बार रिपब्लिकन्स के गढ़ कहे जाने वाले एरिजोना में डेमोक्रेट्स ने सेंध लगा दी है। यहां बाइडेन खासी बढ़त हासिल कर चुके हैं। एरिजोना में इस उलटफेर की बड़ी वजह लैटिन लोग बताए जा रहे हैं। ट्रम्प इनको घुसपैठिया बताते आए हैं। 
     वहीं, बाइडेन ने इनका समर्थन किया। नतीजा सामने है। 2016 में ट्रम्प ने यहां 3% ज्यादा वोट हासिल किए थे। इस बार इतने ही मतों से पीछे हैं।नतीजे आने शुरू हुए और जैसे-जैसे ये सिलसिला आगे बढ़ा तो इसके साथ बाइडेन समर्थकों का जोश भी बढ़ता गया। फोटो डेलावेयर में डेमोक्रेट कैंडिडेट जो बाइडेन के कैम्पेन हाउस चेस सेंटर (डेलावेयर) का है। यहां उनके समर्थकों ने कार रैली निकाली।नतीजे आने शुरू हुए और जैसे-जैसे ये सिलसिला आगे बढ़ा तो इसके साथ बाइडेन समर्थकों का जोश भी बढ़ता गया। फोटो डेलावेयर में डेमोक्रेट कैंडिडेट जो बाइडेन के कैम्पेन हाउस चेस सेंटर (डेलावेयर) का है। यहां उनके समर्थकों ने कार रैली निकाली।
                    कैलिफोर्निया के अलावा ओरेगन, इदाहो और वॉशिंगटन स्टेट में कांटे की टक्कर है। ट्रम्प ने कहा था कि वे इस बार इदाहो और ओरेगन में सीधी जीत दर्ज करेंगे।पहली ट्रांसजेंडर स्टेट सीनेटर: जो बाइडेन के होम स्टेट डेलावेयर से सारा मैक्ब्रि़ड स्टेट सीनेटर का चुनाव जीत चुकी हैं। वे अमेरिकी इतिहास की पहली ट्रांसजेंडर हैं जो स्टेट सीनेट के लिए चुनी गई हैं। फ्लोरिडा और पेन्सिलवेनिया में मुकाबला काफी कांटे का है। इससे यह भी अनुमान लगाया जा सकता है कि फिलहाल, पूरे देश की भी यही तस्वीर होने जा रही है। डेमोक्रेट्स को लैंडस्लाइड विक्ट्री की उम्मीद थी। फिलहाल ही सही ट्रम्प ने उस पर पानी फेर दिया है।
              सीनेट की बात कर लेते हैं। अब तक 43 सीटों पर डेमोक्रेट जबकि 38 रिपब्लिकन आगे हैं। हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स में डेमोक्रेट 53 और रिपब्लिकन 79 सीटों पर आगे हैं। न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, एक रोचक आंकड़ा सामने आ रहा है। 2016 में जिन लोगों ने वोट नहीं किया था, या जिन्होंने पिछले चुनाव में थर्ड पार्टी को वोट दिया था। इन दोनों ने इस बार बाइडेन को वोट दिया है। डेमोक्रेटिक पार्टी के सीनेटर मिच मैक्डोनेल ने पार्टी नेताओं से कहा- अगर हम जीतते हैं इसे बड़े दिल और विनम्रता से स्वीकार करें। अगर आप गलत बातें कहते हैं, नस्लवादी बातें करते हैं तो देश में हिंसा भड़क सकती है।व्हाइट हाउस के पास ड्राइव पर रोक लगाई गई। यूएसए टुडे के मुताबिक, व्हाइट हाउस के करीब नेशनल गार्ड्स तैनात किए जा चुके हैं।फ्लोरिडा जीतने वाला ही व्हाइट हाउस पहुंचता है। यहां 80% वोटों की गिनती हो चुकी है। 50 फीसदी पॉपुलर वोट्स ट्रम्प को मिले हैं। ये पिछली बार से ज्यादा है।न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, पिछले आधे घंटे में ट्रम्प ने 6 इलेक्टोरल सीट्स पर कब्जा किया है।
                  बाइडेन केंटुकी में 52.3% वोट हासिल कर चुके हैं। यहां ट्रम्प को 45.3% मिल चुके हैं। यहां कुल 11 इलेक्टोरल वोट हैं। 2016 में भी यहां ट्रम्प ने ही जीत हासिल की थी।ट्रम्प रिलेक्स दिखाई दे रहे हैं। वे इस समय परिवार के साथ व्हाइट हाउस में ही हैं। बाइडेन डेलावेयर में हैं और जल्द न्यूयॉर्क पहुंच सकते हैं। हिंसा की आशंका अमेरिका की आंतरिक सुरक्षा संभालने वाले यूएस नेशनल गार्ड को अलर्ट मोड पर रहने को कहा गया है। 18 राज्यों में चुनावी हिंसा या झड़पों की आशंका जताई गई है। करीब 4700 गार्ड्स को तैनात किया जा सकता है। सायबर डिफेंस एजेंसी को भी मॉनिटरिंग करने को कहा गया है। मिलिट्री टाइम्स ने इस बारे में एक रिपोर्ट जारी की है। न्यूज एजेंसी ने फॉक्स न्यूज के हवाले से बताया है कि इंडियाना में अब तक ट्रम्प को 65.7% जबकि बाइडेन को 32.6% वोट मिले हैं। न्यू हैम्पशायर में ट्रम्प को 61.5% जबकि बाइडेन को 38.5% वोट मिल चुके हैं। ट्रम्प ने एक ट्वीट में कहा- देश में सब अच्छा दिखाई दे रहा है। शुक्रिया।
              टम्प 74 साल के हैं और बाइडेन उनसे 3 साल बड़े यानी 77 साल के हैं। ट्रम्प कारोबारी से नेता बने। बाइडेन 1973 में ही सीनेटर बन गए थे। ट्रम्प प्रोटेस्टेंट हैं। बाइडेन रोमन कैथोलिक। ट्रम्प ने 3 जबकि बाइडेन ने 2 शादियां कीं। बाइडेन की एक पत्नी का निधन हो चुका है। ट्रम्प के 5 और बाइडेन के 4 बच्चे हैं। एक बेटे की मौत हो चुकी है। ट्रम्प की वेबसाइट (www.donaldjtrump.com) और बाइडेन की (www.joebiden.com) है।आज सुबह (4 नवंबर सुबह 5 बजे करीब) काउंटिंग शुरू हुई। दो राज्यों में 13 नवंबर तक पोस्टल बैलट मिलेंगे।लैंडस्लाइड मार्जिन रहा तो बुधवार को ही नतीजे साफ हो सकेंगे। मार्जिन कम रहा तो मामला टल जाएगा। 10 नवंबर से 8 दिसंबर तक सर्टिफिकेशन प्रॉसेस चलेगा। यानी इलेक्टर्स के नतीजों की औपचारिक घोषणा। 14 दिसंबर को इलेक्टर्स वोटिंग करेंगे। 6 जनवरी को इनकी गिनती होगी। 20 जनवरी को नया राष्ट्रपति शपथ लेगा।

Hits: 28

What do you think?

Written by Mahendra Patil

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

गुजरात में ऑनलाइन क्लास का नतीजा टीचर ने पोस्ट की अश्लील फोटो

मुंबई पुलिस ने अर्नब गोस्वामी को किया गिरफ्तार